केंद्रीय मंत्री के पद से इस्तीफा देने के बाद भी हरसिमरत बादल का कृषि बिलों पर दोहरा रुख

बठिंडा : केंद्रीय मंत्री के पद से इस्तीफा देने के बाद भी हरसिमरत बादल कृषि बिलों पर दोहरा रुख अपना रही है ।

लम्बी में एक धरने को संबोधित करते हुए, हरसिमरत बादल ने दोहराया कि उन्होंने कृषि संगठनों  से बात की थी, लेकिन उनके मन में यह डर था कि एमएसपी खत्म कर दिया जाएगा, ऍमएसपी समाप्त कर दी जाएगी । उन्होने कहा कि किसानों से बात करने की जरूरत है ताकि उनकी शंकाओं का निवारण किया जा सके। हरसिमरत के कथन से स्पष्ट है कि वह कृषि बिलों से सहमत है ।


दूसरी ओर, वे कह रहे हैं कि मैंने केंद्र से कहा कि इससे हमारा पंजाब, हमारे किसान बर्बाद हो जाएंगे। अब सवाल यह उठता है कि अगर हरसिमरत को लगा कि ये बिल पंजाब और किसानों की बर्बादी है, तो वह किसान संगठनों को क्या समझा रही थी  ? उसी समय हरसिमरत बादल ने दोहराया कि कैप्टन अमरिंदर सिंह किसानों की दुर्दशा के लिए जिम्मेदार थे क्योंकि वह इन अध्यादेशों के लिए सहमत थे।

Related posts

Leave a Comment