घुद्दा गैंग के तीन लोग गिरफ्तार,हथियार और नकदी बरामद,बार्डर पार से मंगवाते थे हैरोइन

गुरदासपुर, 26 अक्टूबर ( अश्वनी ) : गुरदासपुर पुलिस ने इंटर डिस्ट्रीक घुद्दा गैंग के सरगनाह सुखदीप सिंह उर्फ घुद्दा को दो साथियों सहित गिरफ्तार किया है,इसके अलावा उनसे दो गाड़ियां,तीन पिस्टल और रौंद सहित लूट के पैसे बरामद किये हैं।

जानकारी देते हुए इंस्पेक्टर जनरल पुलिस बार्डर रेंज सुरिंदरपाल सिंह परमार ने बतााय कि गुरदासपुर में सीमा से सटे इलाके दोरांगला में 17 जनवरी को भारत पाक सीमा पर बीएसएफ की चौंतरा पोस्ट पर पाकिस्तान के समगलर की ओर से 22 पैकेट हैरोइन जिसकी कीमत करीब अरबों रुपये सहित हथियार भारत में समगल किये गये थे। जिस संबंध में पुलिस ने मामला भी दर्ज किया था,जिसमें घुद्दा गैंग के सुखदीप सिंह पुत्र नत्था सिंह निवासी रुड़ियाना और उसके साथियों का हाथ था।

इसके बाद 29 जुलाई 2020 को गांव रुड़ियाना में कोआप्रेटिव बैंक में से पांच लाख पचास हजार की डकैती हुई थी, जिसके पीछे भी घुद्दा गैंग का हाथ था। वहीं इसके अलावा घुद्दा गैंग ने गेंहू मंडी हरदोछन्नी में हरप्रीत सिंह बथवाला को गोली मारी थी। 25 अक्टूबर को पुलिस को सूचना मिली कि डकैती में उक्त गैंगस्टर की ओर से इस्तेमाल की गई कार में मुख्य आरोपी सुखदीप सिंह घुद्दा और हरविंदर सिंह इर्फ दोधी निवासी मुरादपुर थाना जिला अमृतसर दोस्तपुर की ओर से आ रहे हैं, जिसपर कार्रवाई करते हुए गुरदासपुर पुलिस ने उक्त गाड़ी का पीछा करके उसे कलानौर के पास चारों ओर से घेर लिया।

पुलिस ने उक्त गैंगस्टरों को गिरफ्तार कर गाड़ी की तलाशी की तो उसमें से 40 हजार रुपये, एक पिस्टल 30 बोर और 15 जिंदा कारतूस और एक पिस्टल 32 बोर सहित छह जिंदा रौंद बरामद हुए। दोषियों ने पूछताछ दौरान कबूला कि 17 जनवरी को चौंतरा पोस्ट से पाकिस्तान के समगलर से मिल कर 22 पैकेट हैरोइन महंगवाई थी। जोकि बीएसएफ ने पकड़ ली थी।
आरोपी सुखदीप सिंह घुद्दा ने बताया कि हैरोइन मंगवाने में उनके साथ हरजीत सिंह जीता निवासी कलानौर ने भी दिया था।

बैंक में की गई डकैती में उन्होंने पांच लाख 50 हजार रुपये लूटे थे जिसमें से उनके पास अभी मात्र 40 हजार रुपये ही बचे हैं। उनकी निशानदेही पर पुलिस ने तीसरे दोषी हरजीत सिंह को गिरफ्तार कर उससे एक पिस्टल 32 बोर सहित छह रौंद जिंदा बरामद किये। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि उक्त आरोपियों पर पहले भी अमृतसर सहित अाैर शहराे में हथियार तथा चोरी आदि के केस दर्ज थे और कई मामलों में वह लंबे समय से वांछित थे।

Related posts

Leave a Comment